शताब्दी प्रकाशमाला संपादकीय - जिनकी आँखों से अविरत छलकता था करुणा का महासागर - साधु अक्षरवत्सलदास
     
शताब्दी अनुभूति - प्रमुखस्वामी महाराज : जिनके दर्शन से हृदय में शांति होती है...
     
शताब्दी अनुभूति - प्रमुखस्वामीजी यानी कुशल नियोजन, प्रबंधन और भक्ति का सम्न्वय
     
शताब्दी बोधकथा - गोविंदराम! प्रतिज्ञा ले लीजिए, हमें व्यापार नहीं करना है...
     
शताब्दी स्मृति - मैं हमेशा आपका स्मरण करूंगा
     
जो पीड़ पराई जाने रे... - साधु ज्ञानानंददास
१०
     
आज मेरा स्वामीजी ने थामा हाथ... - साधु ज्ञाननयनदास
१५
     
सारंगपुर में सत्संग का लाभ दे रहे स्वामीजी... २६
     
सत्संगदीक्षा अध्ययन ओनलाइन पाठ्यक्रम २९
     
१० शिकागो, यू.एस.ए. में बी.ए.पी.एस. स्वामिनारायण मंदिर में युवा गतिविधि केंद्र का उद्घाटन...
३०
     
११ अटलांटा में बी.ए.पी.एस. मंदिर में अभिषेक मंडप का उद्घाटन और ओस्ट्रेलिया के पर्थ क्षेत्र के होबार्ट शहर में मंदिर और श्री नीलकंठवर्णी महाराज की मूर्ति स्थापना
३१
     
१२ कनाडा के चार महानगरीय क्षेत्रों में चार नए बी.ए.पी.एस. स्वामिनारायण मंदिर में मनाया गया प्राणप्रतिष्ठा उत्सव
३२
     
१३ गुरुहरि प्रागट्य तीर्थ जबलपुर में परम पूज्य महंत स्वामी महाराज की चित्रप्रतिमा की स्थापना संपन्न
३४
     
१४ श्रावण के पवित्र महीने में प्रमुखस्वामी शताब्दी पर्व के अवसर पर ‘सद्गुण सागर प्रमुखस्वामी’ के शीर्षक से आयोजित संत पारायण
३४

Past Prakash


© 1999-2022 Bochasanwasi Shri Akshar Purushottam Swaminarayan Sanstha (BAPS Swaminarayan Sanstha), Swaminarayan Aksharpith | Privacy Policy | Terms & Conditions | Feedback |   RSS